Trendy

26 January Speech in all Languages for Students & Teachers Latest (2020)

26 january Speech in all language for school
Written by Chetan Darji

Republic Day Speech In Gujarati for Students

Republic Day Speech In Gujarati for Students

( Speech 1)

Republic Day Speech In Gujarati ( Speech 1)

( Speech 2)

Republic Day Speech In Gujarati ( Speech 2)

Republic Day Speech In Hindi for Students/ गणतंत्र दिवस पर भाषण हिंदी में कैसे लिखें या पढ़ें जानिए

माननीय मुख्य अतिथि, शिक्षक, माता-पिता और मेरे सभी प्रिय मित्र आप सबको मेरा नमस्कार…

मैं ….नाम…. कक्षा ….. का छात्र हूं। मुझे यह बताते हुए बहुत खुशी हो रही है कि इस बार भारत अपना 71 वां गणतंत्र दिवस मना रहा है। भारतीय नागरिकों के लिए बहुत ही खास दिन है और आप सभी को गणतंत्र दिवस की बहुत-बहुत शुभकामनाएं। मित्रों हम 26 जनवरी 1950 से हर साल गणतंत्र दिवस मनाते है क्योंकि इस दिन भारत को गणतंत्र देश के रूप में घोषित किया गया था और साथ ही साथ भारत का संविधान लंबे संघर्ष के बाद भारत में लागू हुआ था।

15 अगस्त 1947 को भारत को आज़ादी मिली और ढाई साल बाद 26 जनवरी 1950 को भारत डेमोक्रेटिक रिपब्लिक बना। भारत में गणतंत्र दिवस का इतिहास में बहुत ही महत्वपूर्ण है क्योंकि यह भारतीय स्वतंत्रता सेनानियों के बड़े संघर्ष के बाद हमें अंग्रेजी हुकूमत से आजादी मिली और हमारा संविधान बना।

गणतंत्र का अर्थ (Republic Day Meaning) है देश में रहने वाले लोगों को अपने प्रतिनिधियों को राजनीतिक नेता के रूप में चुनने का अधिकार। हमारे नेताओं और स्वतंत्रता सेनानियों के काफी संघर्ष के बाद हमें आजादी मिली और भारत का अपना संविधान बना। जिसमें सभी नागरिकों के मूल कर्तव्यों, नियम और कानून का उल्लेख है।

हम अपने देश के प्रति उनके बलिदान को कभी नहीं भूल सकते। उन्होंने ऐसा किया कि उनकी आने वाली पीढ़ियां संघर्ष के बिना जी सकें और देश आगे बढ़े। हमें ऐसे महान अवसरों पर उन्हें याद करना चाहिए और उन्हें सलाम करना चाहिए।

यह सिर्फ उनके कारण संभव हो पाया है कि हम अपने राष्ट्र में स्वतंत्र रूप से रह सकते हैं। भारत में विविधता में एकता दिखाने के लिए विभिन्न राज्यों द्वारा भारतीय संस्कृति और परंपरा का एक बड़ा प्रदर्शन भी किया जाता है। इंडिया गेट पर भारत के राष्ट्रपति वीरों को पुरस्कार देते हैं। विदेश से आये मुख्य अतिथि भी गणतंत्र दिवस समारोह में शामिल होते हैं। अंत में भारतीय ध्वज तिरंगा फहराया जाता है और राष्ट्रगान भी गाया जाता है।

इस भाषण को समाप्त करने से पहले, मैं गणतंत्र दिवस के बारे में अपनी भावनाओं को व्यक्त करने का मौका देने के लिए आप सभी को धन्यवाद देना चाहता हूं और मुझे एक भारतीय होने पर गर्व है। हमारे देश से जाति और भ्रष्टाचार पूरी तरह खत्म होने चाहए।

अंत में सभी का धन्यवाद करें और कहें

वन्दे मातरम् , वन्दे मातरम्, वन्दे मातरम्…

भारत माता की जय…

धन्यवाद

आप सभी को गणतंत्र दिवस की हार्दिक बधाई

गणतंत्र दिवस – 26 जनवरी 2020 पर अध्यापकों के लिए भाषण (Republic Day Speech in Hindi for Teacher).

गणतंत्र दिवस – 26 जनवरी 2020 पर अध्यापकों के लिए भाषण (Republic Day Speech in Hindi for Teacher). by Stud mentor

“वन्दे मातरम्” आप सभी को गणतंत्र दिवस की हार्दिक बधाइयाँ। यहाँ उपस्थित हमारे आदरणीय प्रिंसिपल महोदय सभी अध्यापकगण, उपस्थित अभिभावक एवं सभी प्यारे बच्चों का मैं अभिनंदन करता हूँ/करती हूँ।

आज मुझे ऐसा सुनहरा अवसर मिला है अपने देश के लिए कुछ वाक्य प्रस्तुत करने का इसके लिए आप सभी का तहे दिल से धन्यवाद।

गणतंत्र दिवस 2020 में 71वीं बार मनाया जाने वाला है और आज हम सभी यहाँ 71वां गणतंत्र दिवस मनाने वाले है।

भारत के संविधान को अस्तित्व में आए 71 साल पूरे हो चुके है और बहुत से निरंतर संषोंधन के चलते भारतीय संविधान में बहुत ही बदलाव हुआ है।

मैं आपको बताना चाहूँगा/चाहूंगी की भारत की आजादी 15 अगस्त 1947 को सम्पूर्ण हो गयी थी लेकिन संविधान 1946 से ही बनना शुरू हो गया था उसे करीब इसे बनने में 2 साल, 11 महीने और 18 दिनों को भारत में संविधान ने अपना कदम रखा था और लोकतंत्र राजनीति आदि का आगमन हुआ था।

लोगों को अपने अधिकार मिले और वो अपना जीवन स्वतंत्रता पूर्ण संविधान के साथ जीने लगे।

संविधान के अंतर्गत सबको एक समान माना जाता है। मैं आज इस राष्ट्रपर्व पर उन सभी देश के स्वतंत्रता सेनानियों को भारत के शहीदों को भावभीनी श्रद्धांजलि देता/ देती हूँ।

आज हम खुले आसमान में स्वतंत्र साँसे ले रहे हैं तो केवल अपने देश के शहीदों की वजह से। इनकी वजह से हमें यह आजादी मिली है।

हम सभी को अपनी सभी सेनाओं के महान सैनिकों को जो भारत माता की शान में शहीद हो गए और जो आज भी सरहद पर हमारी आजादी को बरकरार रखने के लिए लड़ रहे हैं मैं उन्हे और उनके भगवान रूपी माता-पिता को शत शत प्रणाम करता हूँ/करती हूँ जो दिन-रात हमारे देश की दुश्मनों से रक्षा करते हैं।

हम आज जो अपने घरों में आराम का जीवन व्यतीत कर रहे है वो केवल हमारे वीर जवानों के चलते ही कर रहे है। मुझे इस बात की अपार खुशी हो रही है कि आज के इस शुभ मौके पर अपनी बात रखने का मौका मिला।

मैं दिल से सभी का एक बार फिर आभार व्यक्त करना चाहता हूँ/चाहती हूँ।

अब मैं आपके सामने कम शब्दों में 26 जनवरी गणतंत्र दिवस का इतिहास व्यक्त करने जा रहा/ रही हूँ।

26 January Republic Day History in Hindi

26 जनवरी 1950 को हमारा देश पूर्णतः स्वतंत्र लोकतांत्रिक गणराज्य घोषित हो गया था। इस दिन भारत में संविधान लागू हुआ था। इससे पहले हमारे देश में भारत सरकार अधिनियम 1935 को हटा कर भारत का संविधान लागू किया गया था।

26 जनवरी 1950 से हमारे देश में एक संविधान पूर्ण देश का आरंभ किया गया। 26 जनवरी का इतिहास के स्वर्ण अक्षरों में लिखा गया है। इसी दिन 1930 में लाहौर अधिवेशन में कांग्रेस की अध्यक्षता करते हुए पंडित जवाहर लाल नेहरू ने रावी नदी के तट पर पूर्ण आजादी की घोषणा की थी।

नेहरू जी का कहना था, “आज से हम स्वतंत्र हैं और देश की स्वतंत्रता प्राप्ति के लिए हम अपने प्राणों को स्वतंत्रता की बलिदान कर देंगे और हमारी स्वतंत्रता का हनन करने वाले शासकों को सात समंदर पार भेजकर ही सुख की सांस लेंगे।”

हमारे भारत को 15 अगस्त सन् 1947 को आजादी मिल चुकी थी और आजादी से पहले ही हमारा संविधान 1946 से ही बनना शुरू हो गया था, और इसे बनने में 2 साल, 11 महीने और 18 दिनों का समय लगा।

26 नवंबर 1949 को संविधान का भारत को मिल चुका था लेकिन ये स्थायीत्व में 26 जनवरी 1950 में हुआ। तभी से प्रत्येक वर्ष इस त्यौहार को जोश और उत्साह के साथ 26 जनवरी को हम गणतंत्र दिवस के रूप में मनाते हैं।

भारतीय लोगों में गणतंत्र दिवस के दिन सुबह 8 बजे के करीब हमारे राष्ट्रपति झंडा फहराते नजर आते है। और झंडा फहराते ही पूरा समारोह में राष्ट्रगान चलने लगता है।

भारत में गणतंत्र दिवस का इतिहास ही बताता है कि कितने कठिन संघर्षों से भारत आजाद हुआ और संविधान लागू कराया गया।

मेरा आप सभी से हमेशा से ही कहना रहेगा की आप सभी को हमारे भारत देश की शान में कुछ न कुछ करना चाहिए हमेशा से ही इतना कहना चाहूँगा/ चाहूंगी अगर आपने अपने जीवन में कभी कुछ बड़ा न किया हो तो एक बार अपने देश के लिए कुछ बड़ा जरूर करना।

भारत की आजादी को बनाए रखने के लिए थल सेना, वायु सेना, जल सेना हमेशा से ही अपना फर्ज निभा रहे रहे है।

मेरा अपने देश के हर उस नागरिक से यही कहना है कि अपने देश की ताकत आप हो, अगर आप ही अपने देश की शक्ति को बनाए रखने के लिए कुछ नहीं करेंगे तो कौन करेगा?

भारत का भविष्य आज के बच्चों पर निर्भर केवल इसलिए करता है क्योंकि आज का बच्चा ही भविष्य में जाकर डॉक्टर, इंजीनियर, वकील, पुलिस, फौजी, पायलट आदि होता है। लेकिन ये सब बिना पड़े लिखे नहीं हो सकता है।

कुछ बनने से पहले आपको अपनी शिक्षा सम्पूर्ण करनी होगी। एक नेता बिना शिक्षा ग्रहण करे अच्छे फैसले नहीं ले सकता है लेकिन एक शिक्षित नेता अपने ज्ञान से पूरी दुनिया बदल सकता है।

भारत में करोड़ों की तादाद में लोग रहते है और अगर सब शिक्षित हो तो हमारा भारत और भी महान हो जाएगा।

आज भी भारत में कई ऐसी जगह है जहां बच्चों से उनका अधिकार छीना जा रहा है, उनके अधिकारों के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। हमे यह सब रोकना होगा|

हम भारत माता के बच्चे है, अगर अपनी माता के लिए नहीं सोचेंगे तो कौन सोचेगा?

भारत माता के लिए कुछ भी करना अपने आप में ही गर्व की बात है।

भारत में शिक्षा और स्वच्छता हमेशा बरकरार रखनी है और हमें अपनी भारत माता की शक्ति को बढ़ाना है जिससे कोई भी अन्य राज्य भारत को कमजोर न समझे।

अंत में रिपब्लिक डे पर कुछ पंक्तियाँ अपनी भारत माता की खुशी में बोलना पसंद करूंगा/ करूंगी।


नहीं सिर्फ जश्न मनाना, नहीं सिर्फ झंडे लहराना,
ये काफी नहीं है वतन पर, यादों को नहीं भुलाना,
जो कुर्बान हुए उनके लफ़्ज़ों को आगे बढ़ाना,
खुदा के लिए नही ज़िन्दगी वतन के लिए लुटाना,
हम लाएं है तूफ़ान से कश्ती निकाल के,
इस देश को रखना मेरे बच्चों संभाल के….||


सारे जहाँ से अच्छा, हिन्दोस्ताँ हमारा
हम बुलबुलें हैं इसकी, यह गुलिस्ताँ हमारा ||


आप सभी का धन्यवाद… मैं आप सभी का/की आभारी हूँ। आप ने मेरा ये 26 जनवरी का भाषण (26 January 2020 Speech in Hindi) पूरी तरह सुना।

धन्यवाद

“वंदे मातरम” “जय हिन्द जय भारत”

Republic Day Speech In English for Students

26-January-Republic-Day-Speech-in-English

“We wish our honorable principal, my dear teacher, my supportive elderly, and my delightful fellow students a happy morning. On that very particular occasion, I also want to tell you a few facts. The 71st Republic day of our nation is here to be celebrated.

Although our nation had independence on 15 August 1947, our constitution took some time, two and half years to be exact.

On January 26, 1950 our constitution was fully established, so that we  started this practice of celebrating January 26th as the Day of the Republic which is a day of nationality. Let us all honor those legends that have given our  lives for our well-being on this auspicious day.

For those wonderful minds, I would like to finish this speech with an  instant of silence. Thank you for giving me the chance to stand before all of you and share my opinions!

“Our esteemed Chef, my family, my elders and my colleagues, I would like  to say good morning.

Let me just let you know about this amazing opportunity. Today is our  country’s seventy-first republic day.

Since 1950, two and a half years later, India began its celebration of  independence in 1947. Every year, on the same day, 26 January, our  Constitution came into force.

India was not an selfrun county, it was no sovereign state after its  independence from the British rule in 1947. When its constitution came into force in 1950 India became a self-governing country.

Republic Day Speech In English for Teachers

The day’s Chief Guest, respected Chairman, students, parents and dear friends. It’s why we’re gathered here this time we celebrate the 71st Republic Day of India. Today I’ll speak some words about the republic of clay, a special day for all Indians and wish you all a happy day in the republic.

“India observes the Republic Day every year on 26 January 1950 because on this day India was declared a republic nation as well as India’s constitution came into force after long years of struggle independence. India gained independence on 15 August 1947 and two and a half years later it became the Democratic Republic.

Republic represents the supreme power of the people living in the country and the public alone has the right to elect their representatives to be a political leading figure in the right direction. Hence India is a democracy after 26 January 1950. The Great Indian freedom fighters battled with the “Puma Swam” a lot?In Pakistan. In Asia. We can never forget our country’s sacrifices.

“I hope you all have a lovely morning, esteemed organization chief, colleagues / professors and my dear students / friends. We all know we were gathered in India to celebrate the Day of the Republic. In 1950, the Constitution of India entered into force this day, and everyone was filled with joy. All in all, on this special day India became a republic.

“And we all respect Baba Saheb Bhim Rao Ambedkar’s efforts on this precious day, as he played a crucial role in making this Constitution the head of its drafting Committee, and this is not our only duty to decorate Government buildings and lift national flags.” Therefore, the values of Indian cultures and the spirit that makes us proud of being Indians are commemorated.

About the author

Chetan Darji

Hi, My name is Chetan Darji , and I am the owner and Founder of this website. I am 24 years old, Gujarat-based (India) blogger.
I started this blog on 20th January 2019.

Leave a Comment